• तुम जिंदगी की वो कमी हो..

    जो जिंदगी भर रहेगी....!!

  • सारी दुनिया की खुशी अपनी जगह …,

    उन सबके बीच तेरी कमी अपनी जगह …..!

  • सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें,

    इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना..!

Reload

welcome

Sms.TheOneBlogs.com
  • Main Menu
  • english
  • french
  • italian

Drop us a line...

Send Message

Nice SMS

Advertisement
250.. तलब ये कि तुम मिल जाओ, हसरत ये कि उम्र भर के लिये !!!
249.. एक तरफ है दुनिया सारी तेरे साथ का पड़ला भारी ।।
248.. क्यों न सज़ा मिलती हमें मोहब्बत में, आख़िर हमने भी बहोत दिल तोड़े थे उस शख्स की ख़ातिर..
247.. बदनाम क्यों करते हो तुम इश्क़ को , ए दुनिया वालो…… मेहबूब तुम्हारा बेवफा है ,तो इश्क़ का क्या कसूर..!!
246.. Main Ghalib Aur Faraz Nahi Jo Bayaa’n karun Lafzon Mein , Kahan Alfaaz ka Wazan , Kahan Mere Yaaar ka Hussun..!!
245.. Khwaishon Ki Manzil Ko Kya Chahiye; Jab Kuchh Na Ho.. Toh ‘Kuchh’ Chahiye, Jab Kuchh Ho.. Toh ‘Sab Kuchh’ Chahiye. :)
244.. कितना धुँआ है फैला देखो तो जरा… कल रात मैंने अपने ख्वाबो में आग लगा दी.
243.. Usko hontho se lagata hu to kuch nasha sa cha jata h …aur sharab ko honto se jo lagaya to uska yaad aajata h
242..तेरी आँखों से यून तो सागर भी पिए हैं मैने, तुझे क्या खबर जुदाई के दिन कैसे जिए हैं मैने…
241.. हर रात जान बूझकर रखता हूँ दरवाज़ा खुला… शायद कोई लुटेरा मेरा गम भी लूट ले….
240.. Jab Bhi Main Toot-ta Hoon.. Tumhe Dhundta Hoon;Tu Hamesha Kehti Thi Na.. ‘Hum Ek Hain’. :)
239..लोग हर बार यही पूछते है तुमने उसमे देखा क्या .. ? मैं हर बार यही कहता हूँ बेवजह होती है मोहोब्बत … !!
238.. लोग तो बेवजह ही खरीदते हैं आईने, आँख बंद करके भी अपनी हकीकत जानी जा सकती है…!
237.. दे दिया इश्क़ की, नौकरी से इस्तीफ़ा हमनें,,के अभी उम्र नहीं …इतनें गम कमाने की…!!!
236..मत सोना किसी के कंधे पे सर रख कर जब वो बिछड़ते है तो तकिये पे भी नींद नहीं आती
235..तुम्हारी शर्तो से शहेनशाह बनने से बहेतर है…की अपनी शर्तो पे फ़क़ीर बन जाऊँ ..!!!
234..हम तो बिखरे थे सूखे पत्तो की तरह.. किसी ने समेटा भी तो सिर्फ़..जलाने के लिये..
233..बदल जाती हे जिंदगी की सच्चाई उस वक़्त , जब कोई तुम्हारा , तुम्हारे सामने , तुम्हारा नहीं होता !!
232.. बदनाम करते है हमे लोग शहर मे जीनके नाम से कसम उस शख्स की हमने उनको जी भर के देखा भी नही…!!!…!!!
231..सवाल सिर्फ़ नींद का होता तो,कोई बात ना थी… हमारे सामने मसला तो तुम्हारे,ख़्वाब का भी था …!!
230.. हस के चल दूँ मैं कांच के टुकडो पर,अगर दोस्त कह दे की ये तो मेरे बिछाए हुए फूल हैं…
229..तेरी यादों के चिराग अब भी इस दिल में जलते हैं…… सुनो किसी को अकेला कर देने से कोई तनहा नहीं होता.. “#”
228..काश मोहब्बत के भी इलैक्शन होते हम भी कुछ खर्चा करके जीत लेते उसको…
227.. लोगों मै और हम मे बस इतना फर्क है की लौग दिलको दर्द देते है और हम दर्द देने वाले को दिल देते है
226.. तुम को सोचा तो हर सोच में खुश्बू उतरी, तुम को लिखा तो हर लफ्ज़ महकता देखा.
225..लोग कहते थे की मेरा दिल पत्थर का हैं यकीं मानिये कुछ लोग इसे भी तोड़ गए.
224.. मैने खुदा से पुछा कि क्यूँ तू हर बार छीन लेता है, मेरी हर पसंद….!! वो हंस कर बोला “मुझे भी पसंद है, तेरी हर पसंद.”….!!
223.. तुम तो डर गए एक ही कसम से..! हमें तो तुम्हारी कसम देकर हजारो ने लूटा है..!
222……. “हजारो टुकडे कीये उसने मेरे दिल के मगर, खुद ही रो पडी हर टुकडे पर अपना नाम देखकर “#”
221.. छुप छुप के कही पोस्ट मेरी पढती होगी, मेरी तस्वीरों से तंहाई मे लड़ती होगी , जब भी मेरी याद उसे आती होगी, लगता है अब भी वो रो पड़ती होगी,. . “#”
220..कीसी की तलाश मे मत नीकलो.. लोग खो नही जाते – बदल जाते हे ।
219.. बहुत दूर है तुम्हारे घर से हमारे घर का किनारा……! पर हम हवा के हर झोंके से पूछ लेते हैं क्या हाल है तुम्हारा….!!à_
218..अब तुझे न सोचू तो, जिस्म टूटने-सा लगता है.. एक वक़्त गुजरा है तेरे नाम का नशा करते~करते
217..लफ़्ज़ों को यूं कम ना आंकिये साहब ….. चंद जो इक्कठे हो जाएँ तो शेर हो जाते हैं …. “#”
216..छोड़ दो किसी से वफ़ा की आस, ए दोस्त जो रुला सकता है, वो भुला भी सकता है.!
215..दील जेवु दील ऐमने आपीने कहयु कबुल हणवे थी ऐमने हसी ने कहयु ऐप्रील फुल..!!
214..बहुत है मेरे मरने पर रोने वाले….!! मगर तलाश उसकी है जो मेरे रोने पर मरने की बात कर दे..! ♦♦♦♦
213.. वो इश्क़ में यारो।।।। कमाल कर बैठी .. लिख कर “I love यू” send to all कर बैठी
212.. कुत्तों को देशी घी और लङकियों को सच्चा प्यार कभी हज़म नही होता..।
211.. ना मेरा दिल बुरा था, न उसमें कोई बुराई थी.. सब मुकद्दर का खेल है, बस किस्मत में जुदाई थी..!!
210.. लाखो की हसी तुम्हारे नाम करदेंगे,हर ख़ुशी तुम पे कुर्बान करदेंगे,जिस दिन होगी कमी मेरे प्यार में बता देना,उस दिन जिंदगी को आखरी सलाम करदेंगे
209.. तु मिले या न मिले ये मेरे मुकद्दर की बात है…… ”सुकुन” बहुत मिलता है तुझे अपना सोचकर….
208.. तुम बेवफा होकर भी कितने अच्छे लगते हो, खुदा जाने तुम मेँ वफा होती तो क्या होता.!!
207.. Rishta humara iss jahaa me sabse pyara ho, Jaise Zindagi ko sanso ka Sahara ho… Yaad rakhna Hume uss pal me bhi… Jab hum akele ho… aur saara jahaa tumhara ho….
206.. कोई ख्वाइश तेरी अधूरी न रहे चाहे जिसे तू उस से दूरी न रहे खुशियों के फूल इतने खिलें तेरे जीवन में, के हमारी याद भी तेरे लिए ज़रूरी न रहे.
205.. .. Dil ke kitab me Gulab unka tha… Raat ke neend me khawab unka tha… jab puchcha humne kitna pyar karte ho Hme.. . . . . Mar jayenge tumhare bina… JAWAB unka tha……
204..Be-khabar ho gaye hai kuch log humse, jo hamari zarurat ko mehsoos nahi karte.. kabhi bhot baaten kiya krte the hum se, ab kheriyat tak maloom nahi karte..
203..सबक जिंदगी के सिख रहा हूँ । हाँ माँ मैं बड़ा हो रहा हूँ ।।
202..Insan ki chahat hai ki udny ko par mile Aur parinde sonchty hain ki rahne ko ghar mile.
201.. जो लिबासों को बदलने का शौक रखते थे….!! आखिरी वक्त कह भी न पाये कि कफन ठीक नहीं….
Advertisement